javascript required
मुख्यमंत्री रोजगार योजना

उत्तर प्रदेश सरकार

संक्षिप्त परिचय

मुख्यमंत्री रोजगार योजना

"मुख्यमंत्री रोजगार योजना" का उद्देश्य , बेरोजगारों को रोजगार प्रदान करना और उनकी बेरोजगारी की स्थिति में आर्थिक सहायता करना है.

शिक्षित, अशिक्षित, युवक व युवतिया नौकरी की उपस्थिति में भी नौकरी को प्राप्त नहीं कर पाते है. क्योंकि लगभग सभी बड़ी कपंनिया अपने रिक्त पदों को भरने के लिए तृतीय पक्ष के रोजगार प्रदाता का चयन करती है. जो अपने से जुड़े व्यक्तियों को ही उन पदों पर नियुक्ति का अवसर देते है. इस प्रकार एक बड़ा वर्ग उन नौकरियों को प्राप्त करने से वंचित रह जाता है ।

मुख्यमंत्री रोजगार योजना के तहत सभी आवेदकों का तृतीय पक्ष के रोजगार प्रदाता का खर्च राज्य सरकार वहन करती है. आवेदक को केवल तृतीय पक्ष के रोजगार प्रदाता के नामांकन का ही खर्च उठाना होता है. यदि तृतीय पक्ष के रोजगार प्रदाता आवेदक को एक वर्ष के भीतर नौकरी प्रदान नहीं करा पाते है तो आवेदक को दस हजार रुपये प्रति वर्ष कर भुगतान उसके आधार से जुड़े खाते में राज्य सरकार के द्वारा किया जायेगा. ।

javascript required